लघु व्यंग्य: डैमोक्रेसी की कॉमेडी-राजेंद्र शर्मा

ये लो कर लो बात, विपक्षियों के हिसाब से एक बार फिर डैमोक्रेसी का मर्डर हो गया. तमाचा-वमाचा भी नहीं, लात-घूंसा भी नहीं, लाठी-वाठी...

हमसे वोट मत मांगिए, हिटलर की तरह ‘एक्सटर्मिनेशन कैंप’ में डाल दीजिए ताकि बटन...

गोरखपुर: पर्यावरणविद, समाजवादी, मनुष्यता के हिमायती, दिल्ली यूनिवर्सिटी से पीएचडी, पूर्वाञ्चल गांधी कहे जाने वाले डॉ संपूर्णानंद मल्ल ने देश के वर्तमान हालत को देखते...

अब एक चुनाव, एक उम्मीदवार! व्यंग्य: राजेंद्र शर्मा

Chhatisgarh: मोदी जी ने क्या कुछ गलत कहा था? राहुल गांधी अमेठी से भागे हैं कि नहीं. अमेठी से भागकर बगल में रायबरेली में...

मोदी राज में लोकतंत्र की सीरत और वन नेशन, वन इलेक्शन के पीछे की...

सूरत: में जो हादसा हुआ है, वह किसी भी सभ्य समाज और परिपक्व लोकतंत्र पर एक बदसूरत धब्बा है इसलिए यह सिर्फ सूरत का...

मतदान का एक आधार प्रेस की आजादी भी होना चाहिए: बादल सरोज (PART-2)

यह वह कालखंड है, जब इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ़ जर्नलिस्ट्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ अकेले 2023 के वर्ष में 94 पत्रकारों और मीडिया कर्मियों की...

मतदान का एक आधार प्रेस की आजादी भी होना चाहिए: बादल सरोज (PART-1)

18वीं लोकसभा के निर्वाचन के लिए मतदान शुरू होने वाला है. सभी–यहाँ तक कि जो खुद को सबसे सुरक्षित और पुरयकीन दिखा रहे हैं, वे...

समतापुरुष बाबा साहब की जयंती पर पूर्वाञ्चल गाँधी ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र

गोरखपुर: महामानव बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की 133वीं जयंती पर 'पूर्वांचल गांधी' कहे जाने वाले डॉ संपूर्णानंद मल्ल ने राष्ट्रपति तथा प्रधानमंत्री को पत्र...

डंका तो बज रहा है, पर बदनामी का-आलेख: राजेंद्र शर्मा (PART-1)

बहुत शोर है कि मोदी के राज में दुनिया भर में भारत का डंका बज रहा है. खुद प्रधानमंत्री मोदी कई मौकों पर अपने...

सनातन धर्म बनाम हिंदू धर्म टिप्पणी: संजय पराते

हाल ही में अरुण माहेश्वरी की 8 अध्यायों में विभाजित एक छोटी-सी पुस्तिका "सनातन धर्म: इतना सरल नहीं" आई है. यह पुस्तिका सनातन धर्म...

आज की तारीख में भगत सिंह के वारिस होने का मतलब

अपनी भावनाओं, विचारों और कुर्बानियों के चलते कोई व्यक्ति किसी देश में क्रांति की अनवरत जलती मशाल बन जाता है, चाहे जितनी आंधी आए,...
Translate »
error: Content is protected !!