PTI/IMAGE

BY-THE FIRE TEAM


 

अफगानिस्तान : आत्मघाती हमलावर ने इस्लामी विद्वानों को बनाया निशाना, 50 की मौत, 83 लोग घायल

प्रतीकात्मक फोटो

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में मंगलवार को एक आत्मघाती हमलावर ने बड़ी संख्या में एकत्र इस्लामी विद्वानों को निशाना बनाया, जिसमें 50 लोगों की मौत हो गई.

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाहिद मजरूह ने बताया कि हमले में लगभग 83 लोग घायल हो गये जिनमें से 20 की हालत गंभीर बनी हुई है. इस हमले की तत्काल किसी भी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है.

काबुल पुलिस प्रमुख के प्रवक्ता बशीर मुजाहिद ने कहा,‘‘हमले के पीड़ित दुर्भाग्यवश धार्मिक विद्वान थे जो पैगंबर मोहम्मद का जन्मदिन मनाने के लिए एकत्र हुए थे.

”अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने इस हमले की निंदा करते हुए इसे ‘‘इस्लामी मूल्यों और पैगंबर मोहम्मद के अनुयायियों पर एक हमला” बताया है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी इस हमले की निंदा की और पीड़ितों के प्रति संवेदना जाहिर की. यह सचमुच दुर्भाग्य पूर्ण है कि आतंकियों का मकसद सिर्फ मानवता की हत्या करना है.

दरअसल उनका कोई किसी भी धर्म से लेना देना नहीं है, काबुल में हुए इस बम ब्लास्ट की घटना से यह सीख ली जा सकती है.  इस्लाम धर्म के संस्थापक के पवित्र जन्मदिन पर विद्वानों की निर्मम हत्या बहुत कुछ कहती है.

जरूरत इस बात की है कि इस्लाम के अनुयायी इस तथ्य को समझे और केवल संवेदना न प्रकट करें बल्कि ऐसे खतरनाक लोग जो इस्लाम को बदनाम करने की कोशिश कर रहें, उनसे सख्ती से निपटें तभी एक सामाजिक माहौल बनाया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here