news nation english

गोरखपुर: मिली जानकारी के मुताबिक एडीजी जोन डॉ. के एस प्रताप कुमार ने फरमान जारी किया है कि थाने व चौकी के नाम के साथ किसी प्राइवेट एजेंसी या संस्था का नाम अंकित ना किया जाए.

जैसा कि थाने और चौकी के सुंदरीकरण के नाम पर तमाम प्राइवेट संस्थानों व कंपनियों द्वारा जन सहयोग दिया जाता रहा है किन्तु इससे समाज में

यह संदेश जा रहा है कि अमूक संस्था या एजेंसी का प्रभाव पुलिस बल पर है. ऐसे में एडीजी जोन ने जोन के सभी आईजी, डीआईजी व एसएसपी

को पत्र लिखकर निर्देश जारी किया है कि थाने व पुलिस चौकी पर प्राइवेट संस्थानों के नाम के बोर्ड को हटा दिया जाए.

साथ ही जनपदी सीमा पर पुलिस विभाग से संबंधित सीमा समाप्त व प्रारंभ होने के बोर्ड जो काफी जर्जर अवस्था में है, उसको भ दुरुष्त करने की जरूरत है ताकि रात में पढ़ने में आम जनमानस को कठिनाई ना हो.

एडीजी जोन डॉ के एस प्रताप कुमार ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस एक निष्पक्ष पुलिस बल है. 

ऐसी स्थिति में जनपदो के थानों व पुलिस चौकियों के नाम के साथ किसी प्राइवेट एजेंसी या संस्था का नाम अंकित ना हो तथा पुलिस की निष्पक्षता पर भी कोई प्रश्नचिन्ह ना उठाया जा सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here