agazbharat

कैसरगंज: लगातार बृजभूषण शरण सिंह पर आरोपों को देखते हुए पार्टी की किरकिरी होने पर अंततः भाजपा ने इनका टिकट काटकर लोकसभा कैसरगंज से उनके बेटे करण भूषण पर भरोसा जताया है.

बताते चलें कि करण भूषण सिंह उत्तर प्रदेश कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष हैं तथा पहली बार भाजपा के  टिकट पर अपनी किस्मत आजमाने जा रहे हैं.

इस विषय में करण भूषण सिंह के प्रतिनिधि जनार्दन तिवारी ने कलेक्टोरेट पहुंचकर चार सेट नामांकन पत्र खरीदा तथा पूरी जानकारी साझा किया. 

राजनीतिक गलियारों में इसके पहले भी यह अनुमान लगाया जा रहा था कि भाजपा बृजभूषण सिंह के किसी परिजन को ही टिकट देगी.

हालांकि बृजभूषण पर महिला पहलवानों द्वारा गंभीर आरोप लगाए जाने के बाद से ही उनकी उम्मीदवारी खतरे में पड़ गई थी.

टिकट काटने पर जब पत्रकारों ने इनसे पूछा तो बृजभूषण सिंह ने बयान दिया था कि आज कैसरगंज का नाम हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में महक रहा है.

जहां तक टिकट की बात है तो हमारे क्षेत्र में कार्यकर्ता जागरूक हैं, पार्टी चुप है, बारात सजी हुई है लेकिन दूल्हा गायब है. 

किंतु मेरा दावा है कि यदि भाजपा हाई कमान एक घंटा पहले भी प्रत्याशी घोषित कर देगी तो जीत के साथ दिल्ली पहुंचेंगे.

आपको यहां याद दिला दें कि लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में उत्तर प्रदेश के मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी,

जालौन, झांसी, हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, कौशांबी, बाराबंकी, फैजाबाद, कैसरगंज और गोंडा में मतदान होना तय किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here