BYTHE FIRE TEAM


छत्तीसगढ़ में आज दूसरे चरण के मतदान बाधित हो चुका है। इसके पीछे कोई नक्सली हमला नहीं बल्कि ईवीएम मशीन है जो पिछले कई चुनावों से काफी शिकायत मिली चुकी है।

अकेले छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के 130 मतदान केन्द्रों की ईवीएम मशीन ख़राब हो गई। जिसके चलते सुबह 8:30 बजे तक मतदान नहीं शुरू हो पाया था जबकि मतदाता सुबह 7:30 से आने लगे थे।

दरअसल मतदान करने में अहम भूमिका निभाने वाली ईवीएम मशीन ख़राब हो गई। ख़बर आई कि ईवीएम मशीन ख़राब होने के कारण 48/115 मशीनें मंगवाई गई है जिसके कारण राजधानी के 130 पोलिंग बूथ पर मतदाता तो है मगर बटन दबाने वाली ईवीएम मशीन ख़राब हो गई है।

ईवीएम ख़राब होने पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने लिखा- जगह जगह से ईवीएम मशीनों के ख़राब होने की ख़बरें आ रही हैं। कई जगह दो घंटों के मतदान के बाद मशीनें बदली गई हैं।

कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि यह सिर्फ़ संयोग दिखता नहीं, क्या मतदान धीमा करके मतदाताओं को हतोत्साहित करने का षडयंत्र चल रहा है?

जगह जगह से ईवीएम मशीनों के ख़राब होने की ख़बरें आ रही हैं। कई जगह दो घंटों के मतदान के बाद मशीनें बदली गई हैं।

यह सिर्फ़ संयोग दिखता नहीं, क्या मतदान धीमा करके मतदाताओं को हतोत्साहित करने का षडयंत्र चल रहा है?
मतदान के दौरान कांग्रेस नेता के इस आरोप पर बीजेपी पर भारी असर पड़ सकता है क्योंकि यूपी महाराष्ट्र के उपचुनावों में ईवीएम मशीन ख़राब होने की ख़बर तो आई थी मगर बीजेपी को वहां करारी हार का सामना करना पड़ा था।

अब इसे महज एक संयोग ही कहा जा सकता है कि रायपुर में बीजेपी और कांग्रेस में कड़ी टक्कर देखी जा रही है। बीजेपी के दिग्गज मंत्री राजेश मूणत और कांग्रेस से विकास उपाध्याय चुनावी मैदान में है।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के पहले चरण के चुनावों में ईवीएम ख़राब होने की ख़बर नाम मात्र ही थी। चुनाव आयोग के अनुसार ईवीएम मशीनें कम ख़राब हुई और यही वजह रही कि पिछली बार से इस बार विधानसभा चुनावों में मतदान प्रतिशत में काफी उछाल भी देखा गया था।

अब दूसरे चरण के चुनावों में मशीन ख़राब होना कहीं राजनीतिक दलों के लिए नुकसान की बात न हो जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here