photo:PTI

BY-THE FIRE TEAM

यदि आपको बैंक से संबंधित किसी प्रकार का कोई जरूरी काम करना है तो उसे शुक्रवार( 31 अगस्त) को हर हालत में पूरा कर लें। अन्यथा आप को 5 दिन तक यानी कि 5 सितंबर तक बैंक सेवाओं से दूर रहना पड़ सकता है।

दरसल सितंबर माह की शुरुआत शनिवार के दिन से हो रही है और आपको बताते चलें कि इस दिन देश के कई राज्यों में सरकारी बैंकों की सेवाएं प्रभावित रहती हैं।
कुछ बैंक इस दिन छुट्टी रखते हैं तो कुछ हाफ डे ही काम करते हैं।

इसके साथ ही अगले दिन यानी कि 2 सितंबर को रविवार का दिन है जिस दिन छुट्टी रहती है।

इसके बाद 3 सितंबर को उत्तर भारत में कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार मनाया जाएगा जिसके कारण अधिकतर बैंक बंद रहेंगे।

इसके बाद 4 और 5 सितंबर को कोई भी सरकारी छुट्टी नहीं है परंतु यूनाइटेड फोरम ऑफ रिजर्व बैंक ऑफिसर्स एंड एम्प्लायी (UFRBOE) के सदस्य अपनी मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर जाने वाले हैं।

जनसत्ता की खबर के अनुसार यदि रिजर्व बैंक के अधिकारी दो दिनों की छुट्टी पर चले गए तो व्यवसायिक बैंक का कामकाज पूरी तरह से चरमरा जाएगा।

इस हड़ताल के बाद यदि कार्य सुचारु रुप से चालू भी होता है तो इस सप्ताह केवल दो ही दिन मिलेंगे यानी कि 6 और 7 सितंबर।

हड़ताल के कारण इन 2 दिनों में काम का दबाव भी बहुत होगा और 8 सितंबर को शनिवार होने के कारण तथा 9 सितंबर को रविवार होने के कारण बैंक के कार्य फिर से प्रभावित रहेंगे जिसका असर 10 सितंबर को दिखाई पड़ेगा।

आपको बताते चलें कि रिजर्व बैंक के कर्मचारी अंशदयी भविष्य निधि( सीपीएफ) का विकल्प चुनने वाले स्टाफ को पेंशन योजना का लाभ लेने का विकल्प देने की मांग कर रहे हैं जिसके कारण वह 6 और 7 सितंबर को देशव्यापी हड़ताल करने का विचार बना चुके हैं।

अतः अच्छा होगा कि आप बैंक से संबंधित जरूरी काम कल ही निपटा लें। हालांकि ऑनलाइन सेवा पर कोई भी असर ना पड़ने की बात कही जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here