PTI/IMAGE

BY-THE FIRE TEAM

आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर तारीखों के औपचारिक ऐलान से पहले ही सभी पार्टियां अपना चुनावी बिगुल फूंक चुकी हैं. मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस भी वोटरों को लुभाने की पुरजोर कोशिश कर रही है.

यही वजह है कि मध्य प्रदेश के मुरैना में संकल्प यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने एक जनसभा को संबोधित किया और मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला.

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि देश में हरित क्रांति ने किसानों को मजबूत किया और अधिकार दिया. हम जमीन अधिग्रहण बिल लाये.

अब जमीन ऐसे नहीं बल्कि किसानों से पूछकर पंचायत के परामर्श से ली जायेगी और मार्केट रेट से चार गुना ज्यादा कीमत दी जायेगी.

मगर 2014 में नरेन्द्र मोदी जी, भाजपा की सरकार बनी और कुछ ही दिनों में पता चलता है कि जमीन अधिग्रहण को भाजपा खत्म करना चाहती है.

इसके अलावा, राहुल गांधी ने नोटबंदी, राफेल और नीरव मोदी समेत कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश की.आइये देखते हैं नके भाषण की अहम बातों को.

राहुल गांधी के भाषण की कुछ प्रमुख बातें –

(1)  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान की एयरफोर्स के लिये यूपीए सरकार 526 करोड़ में हवाई जहाज खरीदती है. इस हवाई जहाज को बनाने का कांट्रैक्ट एचएएल को दिया जाता है.

प्रधानमंत्री जी फ्रांस जाते हैं कांट्रैक्ट बदलते हैं, कांट्रैक्ट एचएएल से छीनकर अपने मित्र अंबानी को देते हैं. 526 करोड़ का हवाई जहाज 1600 करोड़ रुपये में खरीदा जाता है .

जब अनिल अंबानी जी ने मोदी जी से कांट्रैक्ट मांगा तो उन्होंने बिना किसी से पूछे सीधा 30,000 करोड़ रुपये उसकी जेब में डाल दिया. हम सिर्फ न्याय मांग रहे हैं.

अगर देश को आगे बढ़ना है तो सबके लिये जगह होनी चाहिए. उद्योगपतियों के लिये भी जगह हो. यदि उद्योगपतियों को फायदा पहुंचा रहे हैं तो किसानों, महिलाओं, आदिवासियों को भी फायदा मिलना चाहिए.

(2) राहुल गांधी ने कहा कि अगर मनरेगा को देखें तो इसकी पूरी शक्ति पंचायत में थी. मोदी जी की सरकार आयी और पंचायतों को उन्होंने कमजोर किया.

भाजपा के लोगों ने पूरे देश में पंचायती राज के ढांचे पर ही आक्रमण कर दिया. कांग्रेस ने उस समय मनरेगा को चलाने के लिये 35 हजार करोड़ रुपये दिये. नीरव मोदी हिंदुस्तान के बैंकों से 35 हजार करोड़ रुपये चोरी करके भाग गया और उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई.

(3) उन्होंने आगे कहा कि विजय माल्या हिंदुस्तान के बैंक से 10,000 करोड़ रुपये लेकर भाग गया. जाने से पहले वित्त मंत्री जेटली जी संसद भवन में मिलते हैं.

विजय माल्या उनसे कहता है कि मैं लंदन जा रहा हूं. वित्त मंत्री जेटली जी विजय माल्या की बात सुनते हैं लेकिन न तो ईडी को, न तो सीबीआई को न ही पुलिस को बताते हैं.

(4) राहुल गांधी ने कहा कि सिर्फ कर्जा माफ करने से बात नहीं बनेगी ये सही बात है. आज किसान दुःखी है, घबराया हुआ है और जी नहीं पा रहा है. इसीलिए हम किसान की मदद करते हैं.

समाधान सिर्फ कर्जा माफ करने से नहीं होगा. किसान की जिंदगी बदलने से समाधान होगा. हरित क्रांति, श्वेत क्रांति, टेलीकॉम क्रांति का काम हमने करके दिखाया है.

(5) राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी के कारण पूरा देश लाईन में खड़ा हुआ. हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का काला धन सफेद में बदला गया, कोई जेल नहीं गया.

वहीं 15 लाख रुपये भी किसी गरीब को नहीं मिला. आदिवासियों को जल, जंगल, जमीन का फायदा मिलना चाहिए.  उन्होंने यह भी कहा कि जैसे ही मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की सरकार आयेगी हम ट्राईबल बिल को लागू करके दिखायेंगे.

(6) वर्तमान सरकार 15 उद्योगपतियों पर मेहरबान है. साढ़े चार साल में इनका तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया जा चुका है.

हमारी मांग है कि इतनी ही राशि किसानों की माफ की जाए, जब सरकार 15 लोगों के लिए ऐसा कर सकती है तो लाखों किसानों, आदिवासियों के लिए क्यों नहीं. ?”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here