PTI_IMAGE

BY-THE FIRE TEAM


16 दिसंबर 2011 की वो काली रात जिसे कोई नहीं भूल सकता है, जब मासूम निर्भया के साथ दरिंदों ने चलती बस में गैंगरेप के बाद बर्बरता से मौत के घाट उतार दिया था।

निर्भया की मौत की घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया था। जिसके बाद देशभर में लोग सड़क पर उतरकर आरोपियों को सजा दिलाने की मांग करने लगे।

इस घटना के बाद ही रेप को लेकर कानून और सख्त बने और निर्भया फंड की शुरुआत की गई है, जिससे कि आने वाले समय में इस तरह की घटनाओं को रोका जा सके।

इस घटना को आज 7 वर्ष पूरे हो गए, लेकिन जिस तरह से आज भी रेप के मामलों में प्रशासन की तरफ से हीलाहवाली देखने को मिलती है उसे लेकर निर्भया की मां ने चिंता जताई है।

https://twitter.com/aasngoorg/status/1053552195864576000

निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि रेप जैसे अपराध के मामलों में अपराधी आज भी जिंदा है, यह कानून व्यवस्था की बडी़ विफलता है।

हम लड़कियों को बताना चाहते हैं कि वो खुद को कभी कमजोर नहीं समझे । साथ ही उनके मां-बाप से यह कहना चाहते हैं कि वह कभी भी अपनी लड़िकयों को शिक्षा मुहैया कराने से नहीं हिचके।

गौर करने वाली बात है कि निर्भया कांड के बाद भी जिस तरह से तमाम नाबालिगों के साथ रेप की घटनाएं सामने आई उसके बाद 14 साल से कम उम्र की लड़कियों

के साथ रेप करने पर फांसी की सजा का कानून पास किया गया है, हालाँकि अभी भी इसमें बहुत कुछ किया जाना बाकी है ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here