PTI/NEWS/IGOOGLEMAGE

 

BY-THE FIRE TEAM

यह घटना उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की है जहाँ एक पिता खुद अपनी ही बेटी के बलात्कार का दोषी पाया गया है.

पुलिस उपाधीक्षक राकेश मिश्रा ने बताया कि मजदूर के तौर पर काम करने वाले एक व्यक्ति ने उस वक्त लड़की पर हमला किया जब उसकी मां घर पर नहीं थी.

उन्होंने बताया कि लड़की ने जब चिल्लाने की कोशिश की तो आरोपी ने उसे मारने की धमकी भी दे डाली. 

उनका कहना है  कि घबराई लड़की ने अपनी मां के घर आने पर उसे घटना की जानकारी दी और उसने तुरंत ही पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराई. हालांकि अभी आरोपी फरार है.

मिश्रा ने कहा कि लड़की को चिकित्सीय जांच के लिए भेज दिया गया है. दोषी व्यक्ति के खिलाफ पोक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज करके जांच की जा रही है.

विचारणीय पहलु यह है कि आखिर क्यों पुरूषों की मानसिकता इतनी गन्दी होती जा रही है, इसके लिए कौन जिम्मेदार है अथवा इसकी मूल वजह क्या है ?

आपको बताते चलें कि अब समाज में नैतिकता का पतन होता जा रहा है जिसके पीछे कमोबेश हमारी आर्थिक संस्कृति भी अप्रतयक्ष रूप से उत्तरदाई है.

आज बूढ़े माता-पिता वृद्धाश्रम में रहने के लिए विवश हैं तो कहीं खुद अपनी ही संतानों द्वारा लगातर सताये जा रहे हैं.

इस तरह की गतिविधियों पर तत्काल कार्यवाही की जानी चाहिए अन्यथा हमारी संस्कृति खतरे में पड़ जाएगी.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here