BY-THE FIRE TEAM

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भले ही परमाणु निशस्त्रीकरण जैसी संस्था कार्य कर रही हो किंतु हथियारों का जखीरा बनाने में कोई भी देश पीछे नहीं दिखता है.

विभिन्न सर्वेक्षण एजेंसियों की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि –विश्व के अनेक देशों ने हथियारों की होड़ मचा रखी है.

पाकिस्तान के परमाणु हथियारों पर नजर रखने वाली एक रिपोर्ट से यह बात पता चली है कि – इस देश में इस समय 140 से 150 तक परमाणु हथियार मौजूद हैं. 

पाकिस्तान परमाणु बम सर्वेक्षण 2018 में क्रिस्टियन सन और जूलिया डायमंड ने कहा – हमारा अनुमान है कि अगर वर्तमान स्थिति जारी रही तो 2025 तक इस देश का परमाणु भंडार वास्तविकता से बढ़कर कहीं अधिक 220 से 250 के बीच हो सकती है.

अगर ऐसा हुआ तो पाकिस्तान दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा परमाणु हथियार संपन्न देश होगा. क्रिस्टियन सन वाशिंगटन डीसी में फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स परमाणु सूचना परियोजना निदेशक हैं.

अमेरिका के रक्षा खुफिया एजेंसी ने 1999 में यह अनुमान लगाया था कि 2020 में पाकिस्तान के पास 7o-80 परमाणु हथियार होगा जो इस समय 140 से 150 के बीच हो चुका है.

आपको बताते चलें कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चाहे परमाणु निशस्त्रीकरण हो अथवा सीटीबीटी,एनपीटी जैसी परमाणु हथियार पर नजर रखने वाली एजेंसियां असल में अपना उत्तरदायित्व ठीक ढंग से नहीं निभा पा रही हैं ?

संभवतः ये एजेंसियां विकसित देशों के साथ सांठगांठ बना रखी हैं. दुनिया में सबको पता है की अमेरिका में सबसे ज्यादा हथियार बनाने वाली कंपनियां स्थित हैं.

आज जिस रूप में पाकिस्तान की छवि अंतरष्ट्रीय स्तर पर बनी है और वह आतंकी गतिविधियों में लिप्त पाया गया है, उससे यह अनुमान लगया जा सकता है कि पूरी मानव जाति के लिए कितना खतरनाक सिद्ध हो सकता है.?

यू यस ए की रिपोर्ट का यह खुलासा इस खतरे की और संकेत करता है.

(साभार-पीटीआई न्यूज़)

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here