BY-THE FIRE TEAM

कांग्रेस ने आज भारत बंद  का आवाह्न किया है.

कांग्रेस द्वारा बुलाए गए ‘भारत बंद’ के दौरान कई विपक्षी पार्टियां एकजुट होकर देश में पेट्रोल-डीजल और गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी के विरोध में प्रदर्शन करेंगी.

एनसीपी प्रमुख शरद पवार, द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन और वामपंथी नेताओं ने कांग्रेस की ओर से बुलाए गए ‘भारत बंद’ का खुला समर्थन किया है, जबकि तृणमूल कांग्रेस ने इस बंद से दूर रहने का निर्णय किया है. 

आपको बताते चलें कि- भाजपा चाहें जो दावा करे इसमें कोई शक नहीं है कि जनता का बड़ा तबका उनसे नाराज है. बीजेपी की नीतियां,,वादे सभी कुछ झूठे साबित हुए हैं.

चाहे नोटबंदी हो या जीएसटी तथा महंगाई और भ्रस्टाचार को खतम करने का वादा इत्यादि हर मुद्दे पर वे लगभग असफल रहे हैं.

यही वजह है कि- संसद में विपक्ष ने सदा उनको घेरा है. अभी वर्त्तमान में केंद्र सरकार ने फ्रांस के साथ जो राफेल डील किया है उसपर भी विपक्ष ने ऊँगली उठाई है.

हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि यही बीजेपी जब सत्ता से बाहर थी तो एक रुपये भी कांग्रेस की सरकार बढाती थी तो वे पुरे देश में विरोध प्रदर्शन करते और अव्यवस्था फ़ैलाने का प्रयास करते थे.

किन्तु आज जब उनकी सरकार है तो आखिर वे क्या कर रहे हैं ?

हाल के दिनों में जिस तरह के गंभीर आरोप उत्तर प्रदेश और बिहार के बीजेपी  नेताओं पर लगें हैं, वह भी किसी से छिपा नहीं है. राहुल ने कहा कि वास्तव में केंद्र की सरकार ने जिस कदर लोगों का जीवन दूभर किया है वैसा कांग्रेस ने नहीं किया.

देश के युवाओं को रोजगार का वादा भी पूरा नहीं किया जा सका है.अब यह तो समय ही तय करेगा कीआने वाले लोक सभा के चुनाव में क्या होगा ?

पेट्रोल-डीज़ल के दामों में बढ़ोतरी के विरोध में आयोजित भारत बंद के दौरान दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा- (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी जी कहते थे-

जो 70 साल में नहीं हुआ, हम करेंगे, उन्होंने सचमुच ऐसा ही किया, पेट्रोल 80 रुपये के पार हो गया.

राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी चुप हैं, जबकि पेट्रोल-डीज़ल के दाम आसमान छू रहे हैं, किसान तकलीफ में हैं, महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here