agazbharat
  • राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सीजेआई सहित अनेक जिम्मेदारों को 100 से अधिक लिख चुके हैं पत्र 
  • हुड़दंगाइयों तथा नफरती चिनटुओं से सुरक्षा के लिए माँगा जेड प्लस का कवच 

गोरखपुर: देश में बढ़ रही बेतहाशा महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, गरीबी, भय, हिंसा आदि को लेकर पूर्वांचल गांधी कहे जाने वाले डॉ संपूर्णानंद मल्ल ने

1 मई यानी मजदूर दिवस के दिन बनारस में बनारस सत्याग्रह करने का ऐलान किया है. इन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर बताया है कि

“आटा, चावल, गेहूं, दाल, तेल, चीनी, शिक्षा, चिकित्सा, संचार पर लगने वाली कर प्रणाली को तत्काल समाप्त कर दें.

साथ ही शिक्षा, चिकित्सा तथा जनसंचार को जनता के लिए मुफ्त रूप में उपलब्ध कराने की बात कही है.” आखिर लोकतांत्रिक व्यवस्था में लोगों से बिना पूछे उनके पेट पर टैक्स लगाना कहां न्याय संगत है.?

यह अप्रत्यक्ष तौर पर संविधान की हत्या करने के समान है. पूर्वांचल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा राजस्थान के बांसवाड़ा में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए

जो कहा उसको भी आड़े हाथों लेते हुए नरेंद्र मोदी पर सवालिया निशान खड़ा किया है. मोदी जी आप क्या कर और कह रहे हैं.?

हम आपसे आटा, चावल, दाल, चीनी, दवा, हवा पर जीएसटी समाप्त करने तथा टोल टैक्स समाप्त करने की मांग कर रहे हैं और आप समाज में सांप्रदायिक जहर घोलने में व्यस्त हैं. 

जिस देश में 80 करोड लोग 5 किलो राशन में अपने जीवन की तलाश कर रहे हैं, 22 करोड लोग कुपोषित हैं, वह महंगी शिक्षा, चिकित्सा तथा संचार कैसे खरीद पाएंगे?

इसके साथ ही पूर्वांचल गांधी ने हुड़दंगाइयों तथा नफरती चिंटुओं से अपनी रक्षा के लिए Z प्लस सुरक्षा की भी मांग किया है.

यदि विधायिका में माननीय बनकर बैठे भ्रष्टाचारियों, अपराधियों एवं बलात्कारियों को सुरक्षा मिल सकती है तो मुझे क्यों नहीं.?

फिलहाल इस सत्याग्रह को सरकार कितनी गंभीरता से लेती है, यह तो आने वाली तारीख तय करेगी किंतु अभी कुछ भी स्पष्ट तौर पर कहना संभव नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here