the new indian express

उत्तर प्रदेश में विगत कुछ दिनों से अराजक तत्वों द्वारा सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की लगातार कोशिश की जा रही है.

इसी क्रम में राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात और दिल्ली में भी सांप्रदायिक दंगों की साजिश रचने के बाद अयोध्या में भी ऐसा ही कृत्य हुआ जिसमें 11 हिंदू युवक शामिल थे.

वे मुस्लिमों की भांति टोपी पहन कर दंगा फसाद करने निकले थे किंतु मस्जिद के इमाम की सूझ-बूझ से न केवल

यह साजिश नाकाम कर दी गई है बल्कि पुलिस ने दंगाइयों को गिरफ्तार भी कर लिया है.

इस संपूर्ण घटनाक्रम का मास्टरमाइंड महेश कुमार मिश्रा नामक युवक है जबकि प्रत्युष श्रीवास्तव, नितिन कुमार,

दीपक गौड़, बृजेश पांडे, शत्रुघ्न प्रजापति और विमल पांडे ने उसका साथ दिया. इन दंगाइयों ने अयोध्या के मस्जिद कश्मीरी मोहल्ला,

टाटशाह मस्जिद, घोसियाना राम नगर मस्जिद, ईदगाह सिविल लाइंस मस्जिद और दरगाह जेल के पीछे सूअर का मांस,

धार्मिक पुस्तक और आपत्तिजनक पोस्टर फेंके थे. इस कृत्य को मस्जिद के इमाम ने रात 2:00 बजे उस समय देखा जब वह नमाज पढ़ने के लिए जा रहे थे.

इमाम ने तत्काल सभी पुलिस अधिकारियों को इस घटना के विषय में अवगत कराया जिसके बाद पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए

छानबीन करके सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों को पकड़ने में कामयाब रही है. ये सभी साजिशकर्ता मूलतः अयोध्या के ही रहने वाले हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here